Sad Shayari in Hindi | Dard Bhari Shayari in hindi | Best Love Sad Shayari Collection

Sad Shayari in Hindi : Hi Welcome to www.shayari4love.in. शायरी4लव पर आपका स्वागत है . यहाँ पर हम आपके लिए लेकर आये बेहतरीन Sad Shayari कलेक्शन जैसे - Sad Shayari , Dard Shayari Bhari Shayari , Sad Shayari in hindi for Girl friend , Zindagi Sad Shayari , Sad Shayari with images , Sad Shayari For boysSad Shyari in Hindi for life

Sad Shayari in Hindi | Dard Bhari Shayari in hindi | Best Love Sad Shayari Collection

Jiske Nasib me ho jamane ki thokre ,
Us Badnasib se na sharo ki baat kar.

जिसके नसीब मे हों ज़माने की ठोकरें,
उस बदनसीब से ना सहारों की बात कर.

Ishq hame uska naam rakh diya ,
Jo mukmmal ho na paai mohabbat hamari.

इश्क हमने उसका नाम रख दिया
जो मुकम्मल हो ना पाई मोहब्बत हमारी.

Bula Raha hai kon mujhko us traf,
Mere liye bhi kya koi udas bekrar hai.

बुला रहा है कौन मुझको उस तरफ,
मेरे लिए भी क्या कोई उदास बेक़रार है.

Vo tere khat teri tasvir aur sukhe fool ,
udas karti hai mujh ko nishaniyan teri.

वो तेरे खत तेरी तस्वीर और सूखे फूल,
उदास करती हैं मुझ को निशानियाँ तेरी.

Vah Mera sab kuch hai par mukaddar nhi ,
kash vo mera kuch na hota par mukaddar hota.

वह मेरा सब कुछ है पर मुक़द्दर नहीं,
काश वो मेरा कुछ न होता पर मुक़द्दर होता.

Dil ko bujhane ka koi darkar to tha,
dukh to ye hai tere daman ne havaye di hai.

दिल को बुझाने का बहाना कोई दरकार तो था,
दुःख तो ये है तेरे दामन ने हवायें दी हैं।

Mil bhi jate to katra ke nikal jate hai,
Hai mosam ki trah log...badal jate hai,
Abhi tak hai giraftar-e-mohabbat-yaro,
Thokre kha ke suna tha ki sambhal jate hai log.

मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हैं मौसम की तरह लोग... बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं.

Kagaj par likh leta hu uski bato ko,
Ke samay bit jata hai par lafj rah jate hai.

काग़ज़ पर लिख लेता हूं उसकी बातों को
के समय बीत जाता है पर लफ़्ज़ रह जाते हैं.

Bevakt bevajah besabab si berukhi teri,
Fir bhi beintha tujhe chahne ki bebasi meri.

बेवक्त बेवजह बेसबब सी बेरुखी तेरी,
फिर भी बेइंतहा तुझे चाहने की बेबसी मेरी.

Dekhi hai berukhi aaj ham ne intehan,
hampe najar padi to vo mahfil se uth gaye.

देखी है बेरुखी की आज हम ने इन्तेहाँ,
हमपे नजर पड़ी तो वो महफ़िल से उठ गए.

Ek najar bhi dekhna gavara nhi use,
jara sa bhi ehsas nhi use,
vo sahil se dekhte rahe dubna hamara,
Ham bhi khuddar the pukara nhi use.

एक नजर भी देखना गंवारा नहीं उसे,
जरा सा भी एहसास हमारा नहीं उसे,
वो साहिल से देखते रहे डूबना हमारा,
हम भी खुद्दार थे पुकारा नहीं उसे.

Intejar rahta hai hame us pal ka jab,
Hame unka didar ho jaye,
Bhala bina dhadkan ke dil kis kaam ka.

इंतजार रहता है हमें उस पल का जब
हमें उनका दीदार हो जाए
भला बिना धड़कन के दिल किस काम का.

Bichad kar aap se hamko khushi achchi nhi lagti,
labo par ye bnavat ki hasi achchi nhi lagti ,
Kabhi to khub lagti thi magar ye sochte the ham,
Ki mujhko kyon meri ye zindgi achchi nhi lagti.

बिछड़ कर आप से हमको ख़ुशी अच्छी नहीं लगती,
लबों पर ये बनावट की हँसी अच्छी नहीं लगती,
कभी तो खूब लगती थी मगर ये सोचते हैं हम,
कि मुझको क्यों मेरी ये ज़िन्दगी अच्छी नहीं लगती.

Aaine me aksar jo shaks najar aata hai,
Khud se ladta hua ek shaksh najar aata hai,
vo kisi baat pe khud se khafa lagta hai,
Nakam mohabbat ka naksh najar aata hai.

आइने में अक्सर जो अक्स नज़र आता है,
खुद से लड़ता हुआ एक शख़्स नज़र आता है,
वो किसी बात पे खुद से खफा लगता है,
नाकाम मोहब्बत का नक्श नजर आता है.

Muhabbat na sahi mukadma hi kar do mujh par,
tarikh dar tarikh tera didar to hoga.

मुहब्बत न सही मुकद्दमा ही कर  दो मुझ पर, 
तारीख़ दर तारीख़ तेरा दीदार तो होगा.

Kash vo samajhte is dil ki tdap ko,
To hame yu rusva na kiya jata,
Yah berukhi thi unki manjoor hame,
Bas ek baar hame smajh to liya hota.

काश वो समझते इस दिल की तड़प को,
तो हमें यूँ रुसवा न किया जाता,
यह बेरुखी भी उनकी मंज़ूर थी हमें,
बस एक बार हमें समझ तो लिया होता.

Itna kyu sikhaye ja rahi hai zindagi,
Hame kon si sadiyan gujarni hai yhan.

इतना क्यों सिखाये जा रही है ज़िन्दगी ,
हमें कौन सी सदियाँ गुज़ारनी है यहाँ.

Bhut Mushkil se karta hu teri yado ka karobar ,
Hame kon si sadiya gujarni hai yhan.

बहुत मुश्किल से करता हु तेरी यादों का कारोबार ,
माना मुनाफा कम है पर गुज़ारा हो जाता है.

Kon kahta hai ki ham jhoot nhi bolte,
Ek baar tum khariyat puch kar to dekho.

कौन कहता है की हम झूठ नहीं बोलते ,
एक बार तुम खेरियत पूछ कर तो देखो.

Uski Tasvir har vakt apne sath rakhta hu ,
Ke ab thoda samajhdar hu ,
apni har galti ka hisab rakhta hu.

उसकी तस्वीरें हर वक़्त अपने साथ रखता हूं
के अब थोड़ा समझदार हूं
अपनी हर गलती का हिसाब रखता हूं.

Vo Mahbbat bhi tumhari thi ,
vo nafrat bhi tumhari thi ,
Ham apni vafa ka insaf kisse mangte ,
Vo sahar bhi tumhara tha vo adalat bhi tumhari thi.

वो मोहब्बत भी तुम्हारी थी,
वो नफ़रत भी तुम्हारी थी हम अपनी वफ़ा का इंसाफ किससे मांगते ,
वो शहर भी तुम्हारा था वो अदालत भी तुम्हारी थी.

Yaad aategi har roj magar ,
Tujhe awaj na dunga ,
Likhunga tere hi liye har gajal magar tera naam na lunga.

याद आएगी हर रोज़ मगर तुझे आवाज़ ना दूँगा ,
लिखूँगा तेरे ही लिए हर ग़ज़ल मगर तेरा नाम ना लूँगा.

Fikar to teri aaj bhi hai ,
bas pahle hak tha ab nhi hai.

फ़िक्र तो तेरी आज भी है,
बस पहले हक़ था अब नहीं है.

Zindagi me pyar ka podha lagane se pahle prakh lena ,
Kyunki har mitti ki fitrat me vafa nhi hoti.

ज़िंदगी में प्यार का पौधा लगाने से पहले जमीन परख लेना
क्युकी हर मिट्टी की फितरत में वफा नहीं होती.

Chalo yahi sahi ham bewafa hai,
Par ye to bataye aap kya hai.

चलो यही सही हम बेवफा है,
पर ये तो बताये आप क्या है.

Ham afsos kyu kare ki koi hame na mila ,
Afsos to vo kare jinhe ham na mile.

हम अफ़सोस क्यों करे कि कोई हमे न मिला,
अफ़सोस तो वो करे जिन्हे हम न मिले.

Ishq ki hamare bas itni si kahani hai,
Tum bichad gaye ham bikhar gaye,
Tum mile nhi aur...
Ham kisi aur ke hue nhi.

इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है,
तुम बिछड गए हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और...
हम किसी और के हुए नही.

Jab milo kisi se to jara dur ka rishta rakhna ,
Bhut tadpate hai aksar sine se lagane vale.

जब मिलो किसी से तो जरा दूर का रिश्ता रखना,
बहुत तङपाते है अक्सर सीने से लगाने वाले.

Ajeeb sa dard hai in dino yaro ,
Na batau to 'Kayar' btau to 'shayar'.

अजीब सा दर्द है इन दिनों यारों,
न बताऊं तो 'कायर', बताऊँ तो 'शायर'.

More Shayari -





Sad Shayari in Hindi | Dard Bhari Shayari in hindi | Best Love Sad Shayari Collection Sad Shayari in Hindi | Dard Bhari Shayari in hindi | Best Love Sad Shayari Collection Reviewed by Virendra Singh on May 10, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.